Sunday, May 5, 2024
Home धर्म - अध्यात्म आज सूर्य ग्रहण , जानें- सुतक काल और नियम साथ हीआपके शहर...

आज सूर्य ग्रहण , जानें- सुतक काल और नियम साथ हीआपके शहर में इसका समय

सूर्य ग्रहण 2022: भारत में साल का आखिरी सूर्य ग्रहण लगने जा रहा है। मंगलवार 25 अक्टूबर 2022 को सूर्य ग्रहण दोपहर 2 बजकर 29 मिनट पर शुरू होगा और शाम 6 बजकर 32 मिनट पर खत्म हो जाएगा। सूर्य ग्रहण करीब 4 घंटे तीन मिनट तक चलेगा। भारत में भारतीय अनुसार ग्रहण का स्पर्श दिन में 4:29 बजे, मध्य 5:14 बजे एवं मोक्ष 5:42 बजे होगा। वहीं ग्रहण का सूतक काल 12 घंटे पहले ही शुरू हो गया है। 

कार्तिक कृष्ण पक्ष अमावस्या दिनांक 25 अक्टूबर 2022 दिन मंगलवार को सूर्यग्रहण भारत में खंड सूर्य ग्रहण के रूप में ही दिखाई देगा। ज्योतिषियों की मानें तो सूर्य ग्रहण और सूतक के नियमों का पालन करना चाहिए।

ग्रहण का सूतक काल

सूर्यग्रहण का सूतक 12 घंटे पहले लग जाता है। अतः इस सूर्यग्रहण का सूतक भोर में 4 बजकर 29 मिनट से आरम्भ हो गया है जो सूर्यग्रहण ग्रहण के समाप्त होने तक रहेगा।

सूतक काल में इन नियमों का करें पालन

  • सूतक काल में न ही भोजन बनाया जाता है और न ही ग्रहण किया जाता।  वृद्ध और गर्भवती महिलाओं के लिए इस तरह के नियम लागू नहीं हैं।
  • यदि भोजन पहले से बना रखा है तो उसमें तुलसी का पत्ता तोड़कर डाल दें। दूध और इससे बनी चीजों, पानी में भी तुलसी का पत्ता डालें। तुलसी के पत्ते के कारण दूषित वातावरण का प्रभाव खाद्य वस्तुओं पर नहीं पड़ता।
  • सूतक लगने के साथ गर्भवती महिलाएं विशेष रूप से ध्यान रखें। सूतक काल से लेकर ग्रहण पूरा होने तक घर से न निकलें और अपने पेट के हिस्से पर गेरू लगाकर रखें।
  • सूतक काल से ग्रहण काल समाप्त होने तक गर्भवती स्त्रियां किसी भी प्रकार की नुकीली वस्तुओं का इस्तेमाल न करें।
  • सूतक काल में घर के मंदिर में भी पूजा पाठ न करें। इसके स्थान पर जाप करना फलदायी रहेगा।

Surya Grahan 2022 क्या न करें गर्भवती महिलाएं

  • सूतक काल से सूर्य ग्रहण काल के दौरान तक गर्भवती महिलाएं किसी भी तरह की नुकीली चीज, जैसे चाकू, कैंची का इस्तेमाल न करें।
  • इसके साथ ही किसी भी तरह की सिलाई-कढ़ाई न करें।
  • कोशिश करें कि इस समय में घर के अंदर ही रहें और अगर किसी वजह से बाहर निकल रही हैं तो पेट के हिस्से पर गेरू लगाएं।
  • मान्यता है कि अगर ऐसा नहीं किया गया तो गर्भ में पल रहे बच्चे को नुकसान पहुंच सकता है।

भारत में क्या है सूर्य ग्रहण का समय

भारतीय अनुसार ग्रहण का स्पर्श दिन में 4:29 बजे, मध्य 5:14 बजे एवं मोक्ष 5:42 बजे होगा। ग्रहण का कुल औसत समय 73 मिनट का होगा। सूर्य ग्रहण का समय देश के अलग अलग स्थानों पर अलग-अलग होता है। तथा मुक्त भी सूर्यास्त के स्थानीय समय के अनुसार होगा।

आपके शहर में कितने बजे दिखेगा सूर्य ग्रहण

  • दिल्ली- 04 बजकर 51 मिनट से 05 बजकर 42 मिनट तक
  • कोलकाता- 04 बजकर 51 मिनट से 05 बजकर 04 मिनट तक
  • मुंबई- 04 बजकर 49 मिनट से 06 बजकर 09 मिनट तक
  • चेन्नई- 05 बजकर 13 मिनट से 05 बजकर 45 मिनट तक
  • लखनऊ- 04 बजकर 36 मिनट से 05 बजकर 29 मिनट तक
  • पटना- 04 बजकर 42 मिनट से 05 मिनट बजकर 14 मिनट तक
  • जयपुर- 04 बजकर 31 मिनट से 05 बजकर 50 मिनट तक
  • हैदराबाद- 04 बजकर 58 मिनट से 05 बजकर 48 मिनट तक
  • बैंगलोर- 05 बजकर 12 मिनट से 05 बजकर 56 मिनट तक
  • अहमदाबाद- 04 बजकर 38 मिनट से 06 बजकर 06 मिनट तक
  • पुणे- 04 बजकर 51 मिनट से 06 बजकर 06 मिनट तक
  • नागपुर- 04 बजकर 49 मिनट से 05 बजकर 42 मिनट तक
  • भोपाल- 04 बजकर 42 मिनट से 05 बजकर 47 मिनट तक
  • चंडीगढ़- 04 बजकर 23 मिनट से 05 बजकर 41 मिनट तक
  • मथुरा- 04 बजकर 31 मिनट से 05 बजकर 41 मिनट तक

सूर्य ग्रहण का राशियों पर असर 

साल के इस आखिरी सूर्य ग्रहण का असर अलग-अलग राशियों पर पड़ेगा।मेष, वृषभ और मिथुन राशि के लोगों पर सूर्य ग्रहण का प्रभाव ठीक नहीं देखने को मिलेगा। कर्क राशि वाले लोगों को इस दौरान धनलाभ होगा। कन्या राशि वालों को इस दौरान हानि हो सकती है। वृश्चिक वालों को धन की हानि होने की संभावना है और धनु राशि वालों इस दौरान लाभ होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

× How can I help you?