Sunday, May 5, 2024
Home मुख्य न्यूज़ सावधान ! खाने के तेल की कीमतों से जुड़ी ‘बड़ी खबर’ इस...

सावधान ! खाने के तेल की कीमतों से जुड़ी ‘बड़ी खबर’ इस कारण लोगों ने खाद्य तेल का स्टॉक करना शुरू कर दिया

Author:DHN

पुणे, एएनआइ-  खाद्य तेल की कीमतें बढ़ रही हैं क्योंकि यूक्रेन और रूस के बीच चल रहे युद्ध के कारण दोनों देशों से सूरजमुखी तेल का आयात बंद हो गया है। पूना मर्चेंट चैंबर के निदेशक कन्हैया लाल गुजराती ने एएनआई को बताया, “तेल की कीमतें लगभग 300 रुपये से 400 रुपये प्रति 15 किलो कंटेनर बढ़ गई हैं। बाजार में तेल की कमी है क्योंकि आयात पूरी तरह से बंद हो गया है।” गुजराती ने कहा, “दोनों देशों के बीच युद्ध शुरू होने से पहले सोयाबीन तेल 1950 रुपये के आसपास बेचा जाता था जो अब बढ़कर 2500 रुपये हो गया है, जबकि सूरजमुखी का तेल पहले 2,150 रुपये था जो अब 2,750 रुपये को पार कर गया है।

increase mustard oil price because of low mustard production

एक अन्य व्यापारी ने कहा, “बाजार में तेल की कमी है और विशेष रूप से सूरजमुखी के तेल के भाव में करीब 600 रुपये प्रति 15 किलो की बढ़ोतरी हुई है, जिसका असर आम आदमी पर पड़ने वाला है।” भारत में सूरजमुखी का तेल मुख्य रूप से यूक्रेन और रूस से आयात किया जाता है। एक खुदरा विक्रेता ने एएनआई से बात करते हुए कहा, “जब तक युद्ध जारी है, तब तक तेल की कीमतें कम नहीं होंगी। लोगों ने खाद्य तेल का स्टॉक करना शुरू कर दिया है क्योंकि उन्हें डर है कि उन्हें भविष्य में पर्याप्त खाद्य तेल नहीं मिलेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

× How can I help you?