महाराष्ट्र सरकार ने गणेशोत्सव को लेकर जारी की गाइडलाइंस- देखे क्या है यह नियमावली

मुंबई/नागपुर/अकोला: कोरोना संक्रमण की वर्तमान स्थिति और तीसरी लहर की आशंका के बीच महाराष्ट्र सरकार ने गणेश उत्सव को लेकर गाइडाइंस जारी किए हैं. राज्य की उद्धव ठाकरे सरकार ने कोरोना महामारी को देखते हुए लोगों से अपील की है कि वो इस त्योहार को सादे तरीके से मनाएं.

राज्य सरकार की ओर से जारी गाइडलाइंस में कहा गया है कि सार्वजनिक गणेश मंडलों के लिए गणेश मूर्ति की ऊंचाई 4 फीट तक हो सकती है. इसके अलावा घरों में विराजमान होने वाले गणपति मूर्ति की ऊंचाई 2 फीट रखने के आदेश दिए गए हैं.

राज्य सरकार के दिशानिर्देश

– कोरोना संक्रमण को देखते हुए ही गणेशोत्सव मनाया जाए।

– सार्वजनिक गणेशोत्सव के लिए गणेशोत्सव मंडलों को स्थानीय प्रशासन से उचित अनुमति लेनी होगी।

– सार्वजनिक क्षेत्र के लिए श्रीगणेश की मूर्ति 4 फीट और घरेलू गणपति के लिए 2 फीट होनी चाहिए।

– गणपति के दर्शन ऑनलाइन करना चाहिए।

– संभव हो तो छाया मिट्टी की मूर्तियों को रखना चाहिए। और विसर्जन घर में ही करना चाहिए।

– अगर घर में विसर्जन संभव न हो तो कृत्रिम तालाब में ही विसर्जन करना चाहिए।

– आरती, भजन, कीर्तन के दौरान भीड़ से बचें।

– सांस्कृतिक कार्यक्रमों की जगह स्वास्थ्य संबंधी गतिविधियां और कैंप लगाकर जागरूकता पैदा की जाए।

– गणपति मंडप में कीटाणुशोधन और थर्मल स्क्रीनिंग की पर्याप्त व्यवस्था की जाए।

– ब्रेक द चेन अंतर्गत लगाए गए प्रतिबंध कायम रहेंगे। गणेशोत्सव के अवसर पर इसमें ढील नहीं दी जा सकती

– श्री के आगमन और विसर्जन जुलूस नहीं निकाले जाएगे.

– विसर्जन स्थल पर कम से कम समय तक प्रतीक्षा करें। – बच्चों और वरिष्ठ नागरिकों को सुरक्षा के लिए विसर्जन स्थल पर जाने से बचना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here