जॉनसन एंड जॉनसन की कोरोना वैक्सीन से लकवे का खतरा, अमेरिकी स्वास्थ्य संस्था ने दी चेतावनी

नई दिल्ली – कोरोना वैक्सीन के साइड इफेक्ट को लेकर अब तक सबसे बड़ी चेतावनी जारी की गई है। अमेरिका की नियामक संस्था खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) ने यह चेतावनी जॉनसन एंड जॉनसन (J&J) की वैक्सीन के लिए जारी किया है। उसने कहा है कि जेएंडजे की कोविड-19 रोधी टीके से लकवे का खतरा हो सकता है। जेएंडजे का टीका लेने वाले लोगों की पर्ची में यह चेतावनी लिखी जा रही है। अगर उन्हें इस प्रकार का कोई लक्षण दिखता है तो उन्हें तुरंत डॉक्टर के पास जाने को कहा जा रहा है।

J&J का खतरनाक साइड इफेक्ट
एफडीए ने जॉनसन एंड जॉनसन के कोविड-19 रोधी टीके को दुर्लभ एवं संभावित खतरनाक तंत्रिका संबंधी रोग (Neurological Disease) के जोखिम से संबद्ध होने की एक नई चेतावनी जारी की है। हालांकि उसने कहा कि वह पूरी तरह से स्पष्ट नहीं है कि जेएंडजे का टीका इस तरह की समस्या पैदा करता है। एफडीए ने नई चेतावनी की घोषणा करते हुए बताया कि प्रतिरोधक प्रणाली (Immune System) से संबंधित बीमारी गिलेन-बर्रे सिंड्रोम मांसपेशियों में कमजोरी और कभी-कभी लकवे का भी कारण बन सकती है। हालांकि स्वास्थ्य अधिकारियों ने जेएंडजे के टीके की खुराक लेने वालों पर इसका बहुत मामूली असर पड़ने का जोखिम होने की बात कही है।
एफडीए के अनुसार, उसने रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र (सीडीसी) के साथ जेएंडजे टीके की पहली डोज ले चुके करीब 100 लोगों में बीमारी पनपने की खबरों की समीक्षा की। इनमें से तकरीबन सभी को अस्पताल में भर्ती कराने की जरूरत पड़ी और एक व्यक्ति की मौत हो गई। सीडीसी के अनुसार, गिलेन-बर्रे सिंड्रोम तब होता है तब शरीर का इम्यून सिस्टम गलती से अपनी ही तंत्रिका कोशिकाओं (Nerve Cells) पर हमला करने लगता है। इससे मांसपेशियों में कमजोरी और कभी-कभी पक्षाघात (लकवे) की स्थिति पैदा हो जाती है जो आम तौर पर अस्थायी होता है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here