सबसे ज्‍यादा महंगा हुआ खाने के तेल, आपको राहत देने के लिए सरकार ने क्‍या कहा?

oli

मुंबई- Edible Oil Prices in India: घरेलू बाजार में सभी तरह के खाद्य तेल की कीमतों में रिकॉर्ड इजाफा देखने को मिला है. 6 खाद्य तेलों का औसत भाव बीते 10 साल के रिकॉर्ड स्‍तर पर पहुंच चुका है. फूड एंड पब्लिक डिस्‍ट्रीब्‍यूशन विभाग ने कीमतों को काबू में करने के लिए सभी जरूरी कदम उठाने को कहा है.

इस महीने खाद्य तेलों की कीमतों (Edible Oil Price) में रिकॉर्ड वृद्धि हुई हैं. मूंगफली तेल, सरसों तेल, सोयाबीन तेल, वनस्‍तपति, सूरजमुखी के तेल और पाम तेल की कीमतें अब बीते एक उच्‍चतम स्‍तर पर पहुंच चुकी हैं. सरकार के आधिकारिक आंकड़ों में ही इस बारे में जानकारी मिलती है. कोरोना वायरस महामारी की वजह से लगभग सभी राज्‍यों में विभिन्‍न तरह के प्रतिबंध और अर्थव्‍यवस्‍था की खराब हालत के बीच आम आदमी की जेब पर अधिक बोझ बढ़ गया है. इसी सप्‍ताह सोमवार को फूड एंड पब्लिक डिस्‍ट्रीब्‍यूशन विभाग ने एक बैठक में सभी हितधारकों, राज्‍यों और कारोबारियों से खाद्य तेल की कीमतें कम करने के लिए सभी जरूरी कदम उठाने को कहा है.

विभाग की ओर से जारी बयान में कहा गया, ‘इस बैठक की इसलिए जरूरत पड़ी क्‍योंकि केंद्र सरकार देश में खाद्य तेलों की बढ़ती कीमत को लेकर चिंतित है. पिछले कुछ महीने में अंतरराष्‍ट्रीय बाजारों में भी खाद्य तेलों की कीमतों में तेजी देखने को मिली है.’ सामान्‍य तौर पर घरेूल बाजार में खाद्य तेलों की कीमतें अंतरराट्रीय बाजार जितनी ही होती हैं. दरअसल, भारत में खाद्य तेल की 60 फीसदी जरूरत को आयात के जरिए पूरा किया जाता है.

अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में खाद्य तेलों की कीमतों में आई तेजी

25 मई को बुरसा मलेशिया डेरिवेटिव एक्‍सचेंज पर कच्‍चे पाम तेल (Crude Palm Oil) का भाव 3,890 रिंगित (मलेशियाई करेंसी) प्रति टन पर नज़र आया है. भारतीय रुपये में यह करीब 68,323 रुपये हुआ. पिछले साल यह भाव 2,281 रिंगित पर था.

शिकागो बोर्ड ऑफ ट्रेड (CBOT) पर सोयाबीन तेल का भाव (Soya Oil Price) बहुत अधिक स्‍तर पर कारोबार कर रहा है. CBOT पर 24 मई को जुलाई वायदा भाव 559.51 डॉलर प्रति टन रहा. पिछले साल इस दौरान यह भाव 306.16 डॉलर प्रति टन पर था.

सरसों तेल के औसत भाव में रिकॉर्ड वृद्धि

खाद्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों से पता चलता है कि देशभर में 6 खाद्य तेलों की औसत कीमतें जनवरी 2010 के बाद से उच्‍चतम स्‍तर पर पहुंच गए हैं. इन आंकड़ों से पता चलता है कि आम लोगों के घरों में सबसे ज्‍यादा इस्‍तेामल होने वाले सरसों तेल (Mustard Oil Price) का औसत भाव इस साल मई में 164.44 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच चुका है.

पिछले साल मई महीने में यह औसत भाव 39 फीसदी कम यानी 118.25 रुपये प्रति किलोग्राम पर था. इसी साल अप्रैल महीने में यह 155.39 रुपये प्रति किलोग्राम पर था. मई 2010 की बात करें तो उस दौरान यह 63.05 रुपये प्रति किलोग्राम पर था.

उच्‍चतम स्‍तर पर पाम तेल का भाव

पाम तेल (Palm Oil) की कीमतों का हाल भी कुछ ऐसा ही है. इस महीने पाम तेल का औसत खुदरा भाव 131.69 रुपये प्रति किलोग्राम पर है. बीते 11 साल में यह अब तक के उच्‍चतम स्‍तर पर है. पिछले साल की तुलना में ही यह करीब 49 फीसदी ज्‍यादा महंगा है. मई 2020 में पाम तेल का औसत खुदरा भाव 88.27 रुपये प्रति किलोग्राम था. 11 साल अप्रैल 2010 में पाम तेल का न्‍यूतनतम औसत खुदरा भाव था. उस दौरान एक लीटर पाम तेल का खुदरा भाव 49.13 रुपये प्रति किलोग्राम पर है. edible-oil-prices-in-india-soars-to-high-record-mustard-oil-soya-oil-vanaspati-sunflower-oil-groundnut-oil-palm-oil-tel-ke-daam

यह भी पढ़े -ATM से रुपये निकाले वाले और चेकबुक का यूज करने वालों को इस बैंक ने दिया झटका, हुआ ये बड़ा बदलाव

isha

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here