भारत में हावी है कोरोना वायरस की डेल्टा वेव; नई स्टडी में दावा- वैक्सीन जान बचा सकती है, पर इन्फेक्शन से नहीं

delta-coronavirus-variant-covishield-covaxin-vaccine-protect-against-delta-icmr-latest

नई दिल्ली- इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च यानी ICMR की नई स्टडी ने कुछ नए तथ्य सामने रखे हैं। रिपोर्ट का दावा है कि वैक्सीन के दोनों डोज लगने के बाद भी इन्फेक्शन हो रहा है। इसकी वजह कोविड-19 का डेल्टा वैरिएंट है। यानी वैक्सीन के दोनों डोज लगने के बाद भी खतरा टला नहीं है।

यह स्टडी बेहद महत्वपूर्ण है। खासकर, दूसरी लहर के कमजोर पड़ते ही राज्यों में अनलॉक होने लगा है। जनजीवन सामान्य होने लगा है, लेकिन अब हिल स्टेशनों से जो तस्वीरें सामने आई हैं, उनमें हजारों की संख्या में लोग सड़कों पर दिख रहे हैं। वह भी बिना मास्क के। सोशल डिस्टेंसिंग भी भुला दी गई है। लिहाजा इंडियन मेडिकल एसोसिएशन से लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक को सक्रिय होना पड़ा। उन्होंने लोगों को हिदायत दी है कि कोरोना की लहर कमजोर हुई है, खत्म नहीं हुई। अगर सावधानी नहीं बरती गई तो तीसरी लहर जल्द ही आ जाएगी और हालात बद से बदतर होते चले जाएंगे।

ICMR की स्टडी से यह साबित हुआ है कि वैक्सीन सिर्फ जान बचाएगी, हॉस्पिटल में एडमिट होने से बचाएगी, पर इन्फेक्शन से नहीं। वायरस से संक्रमण का खतरा अभी टला नहीं है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here