अकोला से गई एक और बस को मध्यप्रदेश में किया जब्त..

महाराष्ट्र से यात्री वाहनों की आवाजाही पर प्रतिबंध के बावजूद बड़े बस आपरेटर मनमानी कर चोर रास्तों से यात्रियों को ला रहे हैं।

बुरहानपुर/अकोला – महाराष्ट्र से यात्री वाहनों की आवाजाही पर प्रतिबंध के बावजूद बड़े बस आपरेटर मनमानी कर चोर रास्तों से यात्रियों को ला रहे हैं। बुरहानपुर जिले की पुलिस लगातार ऐसी बसों को पकड़कर जब्त कर रही है, लेकिन आपरेटर आदेश का उल्लंघन करने से बाज नहीं आ रहे। बाबा ट्रेवल्स की बस क्रमांक एमपी-13 पी-0812 को लालबाग पुलिस ने सिंधीबस्ती चौराहे से जब्त किया है। यह बस करीब तीस से ज्यादा यात्रियों को लेकर महाराष्ट्र के अकोला से आई थी और इंदौर जा रही थी। बस जब्त किए जाने के बाद यात्री नहीं लौटे बल्कि बस स्टैंड पहुंच कर अन्य वाहनों से इंदौर के लिए रवाना हो गए। इनमें से किसी भी यात्री के पास आरटी पीसीआर की निगेटिव रिपोर्ट नहीं थी।

ज्ञात हो कि तीन दिन पहले ही शाहपुर थाना पुलिस ने नाचनखेड़ा मार्ग से धारीवाल और ध्रुव ट्रेवल्स की दो बसों को जब्त किया था। ये बसें भी 40 से ज्यादा यात्रियों को लेकर महाराष्ट्र के जलगांव से आई थीं। सभी यात्री इंदौर जाने वाले थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें वहीं से वापस महाराष्ट्र बार्डर लौटा दिया था। उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र में कोरोना का नया वेरिएंट डेल्टा प्लस पाया गया है। जिसके चलते कलेक्टर प्रवीण सिंह और पुलिस अधीक्षक राहुल लोढ़ा ने महाराष्ट्र बार्डर पर सख्ती बढ़ाई है। चेकपोस्टों पर तैनात कर्मचारियों को बिना आरटी पीसीआर रिपोर्ट के किसी को भी जिले में प्रवेश नहीं देने के निर्देश दिए गए हैं। बावजूद इसके चोरी छिपे कच्चे रास्तों से लग्जरी बसों का आवागमन जारी है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here