टीके के बाद भी सावधानी जरूरी : भारत में सामने आ रहे हर दस में से करीब नौ केस डेल्टा वैरिएंट – INSACOG की रिपोर्ट

नई दील्ली- भारत में कोविड-19 वैक्सीन के करीब 50 करोड़ डोज दिए जा चुके हैं। स्टडीज का दावा है कि वैक्सीन लगी हो तो कोविड-19 की वजह से गंभीर लक्षण या मौत होने की आशंका काफी कम हो जाती है। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च यानी ICMR की नई स्टडी ने कुछ नए तथ्य सामने रखे हैं।

रिपोर्ट का दावा है कि वैक्सीन के दोनों डोज लगने के बाद भी इन्फेक्शन हो रहा है। इसकी वजह कोविड-19 का डेल्टा वैरिएंट है। यानी वैक्सीन के दोनों डोज लगने के बाद भी खतरा टला नहीं है। इसलिए वैक्सीनेटेड लोगों को भी कोरोना गाइडलाइन का पालन करने की सलाह दी जा रही है।

यहा पढ़े कुछ महत्वपूर्ण जानकारिया…
  • अगर आप कोरोना संक्रमित के संपर्क में आए हैं तो आपको दूसरों से दूरी बना लेनी चाहिए और भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जाने के बचना चाहिए। अमेरिका के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के मुताबिक वैक्सीन कोरोना के गंभीर संक्रमण के खतरे यानी गंभीर रूप से बीमार होने से बचा सकती है। लेकिन संक्रमण हो सकता है। ऐसे में वैक्सिनेटेड व्यक्ति दूसरों को संक्रमित कर सकता है।
  • कोरोना संक्रमित के संपर्क में आने पर कम से कम 14 दिन तक खुद का ध्यान रखें और सेहत में होने वाले किसी भी तरह के बदलाव को नजरअंदाज न करें। हालांकि सीडीसी के मुताबिक वैक्सीनेटेड
  • लोगों द्वारा संक्रमण फैलाने का खतरा तो काफी कम है, फिर भी उन्हें कोरोना गाइडलाइन फॉलो करने की सलाह दी जाती है।कोरोना संक्रिमत के संपर्क में आने पर पहला टेस्ट तुरंत करवाएं।
  • अगर किसी भी तरह के लक्षण दिखें तो तुरंत खुद को आइसोलेट करें और कोरोना टेस्ट जरूर कराएं। बुखार, खांसी, सांस लेने में कठिनाई, लॉस ऑफ सेंस और स्मेल और थकान COVID-19 के आम लक्षण हैं।
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने डेल्टा वैरिएंट के बढ़ते मामलों के बाद मास्क पहनने की सलाह जारी की है। ब्रिटेन में भी वैक्सीनेटेड लोगों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है।
  • भारत में वायरस के नए वैरिएंट्स पर नजर रख रहे इंसाकॉग (INSACOG) की रिपोर्ट कहती है कि भारत में सामने आ रहे हर दस में से करीब नौ केस के लिए डेल्टा वैरिएंट जिम्मेदार है। ICMR की नई स्टडी के बाद यह साफ है कि डेल्टा वैरिएंट से इन्फेक्शन बचाने में वैक्सीन भी बहुत असरदार नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here